LPG गैस सिलिंडर पर कोड क्यों लिखा हुआ रहता हैं ?

What is the meaning of number on Gas Cylinder ?


Gas cylinder par code kyon likha hua rehta hai


पिछली पोस्ट में हमने यह जाना था कि LPG गैस सिलिंडर का रंग लाल क्यों होता हैं ? आज इस पोस्ट में हम जानेगें कि LPG गैस सिलिंडर पर लिखे हुए कोड का मतलब क्या होता हैं ? क्या वजह है A-23 , B-24 जैसे कोड गैस सिलेंडर पर लिखने के पीछे ?


जैसा कि हमें पता हैं आज के समय गांव के लोगों तक LPG गैस की पहुंच हो गई है।रसोई गैस न सिर्फ गृहणियों के लिए सुविधाजनक है बल्कि हमारे वातावरण के लिए भी काफी फायदेमंद है। जहां एक तरफ रसोई गैस हमारी कई मुसीबतों को खत्म कर चुका है तो वहीं दूसरी ओर इसके खतरनाक नतीजों की खबरें भी लगातार सामने आती रहती हैं। रसोई गैस सिलेंडर को बहुत सावधानी से इस्तेमाल करना चाहिए। 



गैस सिलिंडर पर कोड क्यों लिखा हुआ रहता हैं ?

एलपीजी गैस सिलेंडर पर  तीन पट्टी लगाई जाती हैं। उन पट्टियों पर एक कोड दिया हुआ रहता हैं , जिसकी शुरुआत A, B, C और D से होती है और फिर दो अंकों का एक नंबर लिखा रहता है। 

 

किसी गैस सिलिंडर पर A 23, B26 ,C25 लिखा हुआ रहता हैं। इसमें 


A का use जनवरी, फरवरी और मार्च 

B का use अप्रैल, मई और जून

C का use जुलाई, अगस्त और सितंबर

D का use अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर 


के लिए किया जाता हैं। इसके अलावा दो अंकों वाले नंबर वर्ष के आखिरी दो अंक होते हैं।


दरअसल यह जो कोड लिखा होता हैं , वो असल में उस सिलिंडर की टेस्टिंग डेट होती हैं। अगर किसी सिलेंडर पर C 30 कोड लिखा है, इसका मतलब ये हुआ कि उस सिलेंडर को साल 2030 के जुलाई, अगस्त या सितंबर महीने में टेस्टिंग के लिए जाना है। सीधी भाषा में कहें तो आपके घर में मौजूद गैस सिलेंडर हमेशा आने वाले साल का होना चाहिए। यदि आपके घर में कोई ऐसा सिलेंडर है जिसकी टेस्टिंग डेट निकल चुकी है तो वह आपके लिए खतरनाक हो सकता है। हालांकि, ऐसा बहुत कम या यूं समझ लीजिए की न के बराबर होता है।


और भी आसान शब्दों में इस कोड को समझे, तो यह कोड उस LPG गैस सिलेंडर की एक्सपायरी डेट होती। अगर एक्सपायरी डेट निकल जाए तो उसे उपयोग नहीं करना चाहिए। 

Post a Comment

0 Comments