हमारे रौंगटे खड़े क्यों हो जाते हैं ।



जब हम कोई हॉरर ( डरावनी ) फिल्में देखते तो डर लगता है और हमारे रोंगटे खड़े हो जाते हैं ? या फिर मैं सर्दियों में देखा कि  ठंड महसूस होने के कारण  हमारे रोंगटे  खड़े हो जाते हैं ? क्या कभी सोचा है कि आखिर ये रोंगटे खड़े होते क्यों हैं, इसके पीछे क्या वजह हो सकती है ? इसके पीछे मुख्य वजह शरीर विज्ञान और इससे जुड़ी भावनाएं हैं।


सबसे पहले जानलेते हैं कि रोंगटे खड़े होने की प्रक्रिया को इंग्लिश में goosebumps कहते हैं ।


 रोंगटे खड़े होने की घटना क्यों होती हैं ?

यह बेहद सामान्य शारीरिक घटना है । होता यों हैं कि  जब किसी वजह से हमारी स्किन में छोटे-छोटे उठान हो जाते हैं , जिससे शरीर पर मौजूद बाल और रोएं बिलकुल सीधे खड़े हो जाते हैं तो इस घटना को ही गूजबम्प्स कहते हैं।


जब हम कोई डरावनी चीज या हॉरर मूवी देखते हैं तब हमारी किडनी के ऊपर मौजूद Adrenal Gland से Adrenaline नामक harmone निकलता हैं , और वो Adrenaline हार्मोन पूरी बॉडी में फैलकर स्किन के नीचे के muscles को सिकुड़न ( Contract ) करता हैं , और रौंगटे खड़े हो जाते हैं । 


गूजबम्पस (Goosebumps) मुख्य 3 कारणों के निकल सकते हैं ।

1.सर्दी लगने से

2.स्ट्रोंग फीलिंग्स के कारण

3.अचानक से हुई चीजों के कारण